Dal mill plant project report for 2020 business in Hindi

दोस्तों आज हम आपको दाल मिल (Dal mill plant) बिज़नेस के बारे में बताएँगे और उसके साथ ही हम आपको मिनी दाल मिल की प्रोजेक्ट रिपोर्ट और उसके मशीन की जानकारी देंगे

तो अधिक जानकरी के लिए बने रहिये हमारे इस आर्टिकल के साथ और दाल मिल बिज़नेस की सभी जानकारी को एकत्र करिये

Dal mill plant project report for 2020 business in Hindi

Table of Contents

दाल मिल बिज़नेस कैसे शुरू करे Dal mill plant Business

दोस्तों जैसा की हम सभी जानते है की भारत में दाल की कितनी अधिक मांग है और जिसकी वजह से आज दाल बनाने वाली सभी मिनी दाल मिल कम्पनिया अच्छी मुनाफा कमा सकते है

तो यदि आप भी चाहे तो आप भी  कुछ बातो को नजर में रखते हुए आप भी मिनी दाल मिल की स्थापना कर अच्छा खाशा बिज़नेस शुरू कर सकते है

तो चलिए आज जानते है की कैसे हम अपने लिए एक दाल मिल की स्थापना कर सकते है

dal mill plant business project report
dal mill plant business project report

check it also ;- वाटर टैंक क्लीनिंग बिज़नेस शुरू कर ,कमाए 50000 रुपये महीना,पूरी जानकारी

जिसके बाद आपको उसी के अनुसार अपने बिज़नेस मिनी दाल मिल प्लाट का प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करना होगा जिसमे आपको अपने बिज़नेस की पूरी जानकारी लिखनी होगी

1. दाल मिल के लिए जगह का चुनाव (Location for dal mill plant)

अब आपको यह बहुत ही ज्यादा जरुरी है की आप अब अपने बिज़नेस के लिए एक अच्छा सा जगह की तलाश कर ले, और हो सके तो यह जगह आपकी अपनी हो तो यह अधिक अच्छा होगा

आपको इस बिज़नेस के लिए लगभग जगह की जरुरत होगी , जहा पर अपने सभी कार्य जैसे दाल बनाना , दाल को स्टोर करना और दाल की पैकिंग करना इत्यादि जरूरते आपकी आसानी से इतने जगह में पूरी हो जाएगी

2. बिसनेस के लिए ट्रेनिंग और प्रशिक्षण (Training for dal mill plant)

दोस्तों वैसे तो आपको यह बिज़नेस के लिए अनेको प्रशिक्षण की वीडियो इंटरनेट में मिल जाएगी की किन्तु हम आपको यही सुझाव देंगे की आप कोई भी बिज़नेस करने के लिए

पहले आप उस तरह के बिज़नेस करने वाली कंपनियों के साथ कुछ दिन काम करके अपने अनुभव को बढ़ा कर ले तब उसके बाद आप उस बिज़नेस में अपना हाथ लगाए

क्युकी हमे कई बार हमें अपने बिज़नेस में कई निर्णय इतने कठिन लेने होते है की हमे बिलकुल ही समझ ही नहीं आता है की हम उस समय क्या करे तो ऐसे में हमे हमारा अनुभव ही काम करता है

जो की बहुत ही अच्छे और आसानी से हमे ऐसी समस्याओं से बहार निकाल लेते है स लिए हमे प्रक्टिकल अनुभव की बहुत ही जरुरी होता है

2. मिनी दाल मिल का पजीकरण या रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया (Registration for dal mill plant)

दोस्तों आपको  इस बिज़नेस को करने के लिए आपको यह बहुत ही ज्यादा जरुरी हो जाता है की आप इस बिज़नेस का पजीकरण या रजिस्ट्रेशन जरूर करे जो की आप निम्न तरीके से कर सकते है

  1. प्रोप्रिटेर शिप ; आप यदि इस बिज़नेस को बहुत ही छोटे से शुरू करना चाहते है तो आप इसे उधोग आधार के द्वारा इसे रजिस्टर कर सकते है जो की बहुत ही आसान और बहुत ही जल्द ख़तम होने वाला प्रोसेस है

check it also ;- उद्योग आधार क्या है, उद्योग रजिस्ट्रेशन कैसे करे [उद्योग आधार की सभी जानकारी ]

यदि आप यह सोच रहे है की आप इसे किसी  बड़ी कंपनी के रूप में शुरू करना चाहते है तो आप इस बिज़नेस को प्राइवेट लिमिटेड , पब्लिक लिमिटेड या पाटनर्शिप फर्म के रूप में भी शुरू कर सकते है

  1. GST Registration ;- इसके बाद आपको अपने बिज़नेस यानी इस दाल मिल के लिए GST के लिए आवेदन करना होगा जो की 7 दिन में या कभी कभी 2 दिन में ही तैयार हो कर मिल जाता है

यदि आप अपने बिज़नेस को इक ब्रांड के रूप में तैयार करना चाहते है जो की आपके लिए सबसे बेस्ट होगा क्युकी आपको अपने बाजार में अपनी पहचान बनानी बहुत जरुरी है जिसके लिए आपको ट्रैड मार्क का रजिस्ट्रेशन करना बहुत जरूरी है

इसके साथ ही आपको प्रदूष्ण के लिए भी आवेदन करना चाहिए

3. दाल मिल के लिए मशीन (dal mill machinery)

दोस्तों आपको दाल मिल के लिए मशीन की भी उतनी ही जरुरत होती है जीतनी की किसी को जीने के लिए साँस की दाल मिल मशीन की जानकारी का भी होना बहुत ही जरुरी होता है

दाल मिल के लिए आपको बाजार में कई तरह की मशीने कई अलग अलग दामों में मिल जाएगी किन्तु हम आपसे अनुरोध करेंगे की आप दाल मिल के लिए वह मशीन लीजियेगा जिसमे आप कई तरह की दाल तैयार कर सके

जैसे की अरहर दाल, मूंग दाल , मटर दाल, चना दाल, मशहूर दाल इत्यादि तरह की दाल की पिसाई एक ही मशीन में ही हो सके जिससे की आपके मिल का काम कम खर्चा में ही शुरू हो सकता है

दाल मिल के लिए मशीन के प्रकार (Types of dal mill machinery)

  • आटोमेटिक (Automatic )
  • Semi-आटोमेटिक (Semi-Automatic)

यह सभी मशीने आपको इंडिया मार्ट में मिल जाती है जो की Single Phase, Three फेज और इन मशीनों की मोटर 1-3 HP, 4-5 हप है

इन मशीनों की कीमत दो लाख से लेकर चार लाख रुपये तक है और यदि आप बड़े स्तर से दाल म मिल का प्लांट लगाना चाहते है

तो आपको अपने बजट को बड़ा करना होगा क्युकी यह इसके लिए आपको कम से कम ३० लाख रुपये से लेकर ४० लाख रुपये तक का खर्चा आ सकता है

4. दाल मिल के लिए कच्चा मॉल (Raw material for dal mill )

दोस्तों आपको अपने बिज़नेस के लिए कच्चा माल की भी आवश्यकता होगी जो की आपको किसानो से ही मिल सकती है जो की आपको केवल किसानो से ही मिल सकते है

इसके लिए आप या तो किसान भाइयो से आप सीधे समपर्क कर सकते है या फिर आप अनाज मंडी में जाकर भी अपने लिए कच्चा मॉल की व्यवस्था कर सकते है

किन्तु आप यदि समय पर सीधे किसान भाई से माल खरीद लेंगे तो आपको यह अच्छे दामों मिल जायेगा मॉल की कस्टमर तक डिलीवरी सुविधा

दाल और उसके प्रकार Types of pulses

दोस्तों आपको बाजार में कई तरह के दाल मिलती है जिसमे आपको सभी  तरह के दाल का उत्पादन करना होगा

dal ke prkar , types of pulses
dal ke prkar , types of pulses

आप चना की दाल (chana dal mill plant), मसूर की दाल, मटर की दाल, अरहर की दाल (arhar ki daal), उर्द की दाल, और ने सभी प्रकार की दाल का उत्पादन करना होगा ।

6. दाल मिल में लगाने वाले अन्य सामग्री (Extra materaial for dall mill)

दोस्तों आपको दाल मिल लगाने के लिए केवल मशीन की ही नहीं  बल्कि अन्य और भी कई छोटी बड़ी चीजों की आवश्यकता होती है जिसमे आपको कच्चा मॉल स्टोर करने के लिए पात्र, और उसे एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने की गाड़िया , इसके साथ ही आपको तराजू जिसमे आप अपने सभी मटेरियल को तौल करेंगे।

इसके साथ ही आपको पैकेजिंग के लिए भी पैकिंग का सामान लेना होगा इस तरह से कई और अन्य सामान की आवश्यकता होती है जो की बहुत ही जयदा जरुरी होती है

7. दाल की पैकेजिंग और उनके प्रकार (Dal packaging )

दोस्तों आपको केवल दाल मिल के लिए दाल बनाने वाली मशीनों की ही जरुरत नहीं है बल्कि आपको इसके लिए एक दाल पैकिंग के लिए आपको एक पैकेजिंग मशीन की भी जरुरत होती है

जिसमे आप कई अन्य अलग अलग साइज़ में पैकेट तैयार करते है जैसे 500  ग्राम , 1000 ग्राम, 2 किलो ग्राम, 5 किलो ग्राम, 10 किलो ग्राम के अलग अलग पैकेट तैयार करना होता है

जो की ग्राहक की अलग अलग जरूरतों के हिसाब से होता है

8. ब्रांडिंग और प्रचार (Branding & Promotion)

दोस्तों अगर आपने अपनी दाल मिल का प्रचार और उसकी ब्रांडिंग नहीं किये तो आपका पूरा धंधा चौपट हो जायेगा जो की सिर्फ दाल मिल के लिए ही नहीं बल्कि अन्य सभी बिज़नेस के लिए यह जरुरी है

ब्रांडिंग ग्राहक के अंदर भरोसा और पहचान बनाती है इसलिए आपको अपने बिज़नेस का इक नाम या ब्रांडिंग करिये जैसे हल्दीराम एक ब्रांड है

इसके साथ ही आशीर्वाद ब्रांड है ठीक उसी प्रकार एप्पल एक ब्रांड है जो की मोबाइल बनाता है इसलिए आपको भी अपने बिज़नेस का ब्रांड तैयार करना बहुत ही जरुरी है

9. मॉल की कस्टमर तक डिलीवरी सुविधा (Material Delivery )

दोस्तों दाल की पैकेजिंग होने के बाद आपको दाल को ग्राहक तक पहुंचाने की आवश्यकता होती है जिसके लिए आपको एक वाहन की भी आवश्यकता होती है 

जिसके जरिये आप अपने तैयार माल को अपने ग्राहक तक पहुंचाते है

दाल मिल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (Dal mill plant project report)

दोस्तों सबसे पहले आपको अपने बिज़नेस के लिए यह तय करना होगा की आप मिनी दाल मिल की स्थापना करना चाहते है या फिर

मिनी दाल मिल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (mini dal mill plant project report)

दोस्तों सबसे पहले आपको अपने बिज़नेस के लिए यह तय करना होगा की आप मिनी दाल मिल की स्थापना करना चाहते है या फिर कोई बड़ी dal mill प्लांट लगाना चाहते है

इसे भी पढ़े

2 thoughts on “Dal mill plant project report for 2020 business in Hindi”

Leave a Comment