How to start a stationery shop business plan in India pdf in Hindi

दोस्तों आज हम आपको बताएँगे की How to start a stationery shop business plan in India pdf in Hindi यानी की आप अपनी कॉपी किताब की दूकान कैसे खोल कर अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते है

यहाँ पर हमको बताएँगे की क्या यह बिज़नेस प्रॉफिटेबल है की नहीं और इसमें आपको कितना लगत लगाने की जरुरत है और आप अपने दुकान के लिए माल कहा से लाएंगे इत्यादि की जानकारी हम आपको इस ब्लॉग पोस्ट में देंगे ।

stationery shop Business plan

दोस्तों stationery shop की मांग आज के समय में ही नहीं बल्कि कई वर्ष से है और आने वाले कई वर्षो तक इसकी मांग रहेगी इसलिए आपको इस बिज़नेस को शुरू कर देना चाहिए

अब आप सोच रहे होंगे की क्या इस बिज़नेस में आपको प्रॉफिट यानि फायदा होगा की नहीं , जी हाँ बिलकुल आपको इस बिज़नेस में आपको मार्जिन भी अधिक मिलेगा

जब स्कूल का समय होता है तो आपको बहुत ही ज्यादा का मुनाफा होता है

Read it also ;- How to start a coaching centre Business For competitive exams in Hindi

How to start a stationery shop business

अब आपका सवाल होगा की आप यह बिज़नेस को शुरू कैसे करे तो जैसा की हम अपने घर को बनाने से पहले उस पर बहुत सारी योजनाए बनाते है

 ठीक उसी प्रकार आपको अपने बिज़नेस को शुरू करने से पहले आपको अपने बिज़नेस के लिए उसकी योजनाए करना बहुत जरुरी होता है

और यदि आप चाहते है की आप आप कई छोटी बड़ी गलतिया करने से पूर्व ही सुधार ले  तो इसके लिए आपको अपने इस नए बिज़नेस के लिए  business plan करना होगा

इसके लिए आपको अपने बिज़नेस के बारे में जो भी आप जानते है उन सभी के बारे में लिखना होगा

 Stationery shop business plan

दोस्तों आपको अपने बिज़नेस प्लान को लिखना बहुत ही आसान होता है जिसमे आपको अपने सभी विचार को आप एक पेपर में लिख ले जो भी आप उस बिज़नेस के लिए करने जा रहे है 

इसमें आपको अपनी दिखाएं की जगह, उसमे लगने वाली फर्नीचर , मटेरियल यानि की आप उस दुकान में क्या रखेंगे इसके साथ ही आपको यह भी लिखना होगा की आप अपने Stationery दूकान का प्रचार कैसे करेंगे

इसके साथ ही आप अपने दूकान का नाम क्या रखेगें और क्या जिस जगह पर आप अपनी Stationery शॉप को खोलना चाहते है क्या उस जगह पर आपके दूकान की मांग है या नहीं , जो की सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है

आप आपको इन सभी के खर्चो को जोड़ना होगा और देखना होगा की क्या यह आपके बजट में है अगर नहीं  है तो बाकी का पैसा कहा से लाएंगे क्या आप अपने दोस्तों से लेंगे या बैंक से लोन लेंगे इत्यादि ।

Read it also ;- राइस मिल उद्योग & Project report & cost in Hindi

स्टेशनरी शॉप के लिए उपयुक्त जगह का चुनाव (location for stationery shop business)

दोस्तों आपके दूकान की सही जगह का होना ही आपके बिज़नेस को सफल होने की प्राथमिकता को बढ़ा देता है इसलिए आपको यह बहुत ही जरुरी है की आप अपने दूकान के लिए सही जगह का चुनाव करे ।

इसके लिए आप अपनी दूकान के लिए एक ऐसी जगह का चुनाव करे जहा पर कोई छोटी या बड़ी बाजार हो या फिर कॉलेज , स्कूल , कोचिंग क्लासेस हो जो की बहुत ही उपयुक्त जगह होंगी

इसके साथ ही आपको यह भी ध्यान रखना चाहिए की क्या वहा पर पानी और बिजली की उचित व्यवस्था है  क्या उस दूकान की कीमत यानि की किराया अधिक तो नहीं है

स्टेशनरी शॉप के लिए मटेरियल  (stationery items list in hindi)

अब आपको आपके दूकान के लिए सभी मटेरियल यानी की दूकान के लिए माल लाना होगा जिसे आप बेचना चाहते है जो की इस प्रकार से है स्टेशनरी आइटम लिस्ट

आप अपने दूकान के लिए पेन, पेंसिल, व्हाइट बोर्ड, ब्लैकबोर्ड,कॉपी, किताब , स्टेप्लर मशीन, स्टेप्लर पिन , मार्कर, प्रोजेक्ट पेपर, स्कूल यूनिफार्म , स्कूल बैग, फाइल, प्रैक्टिस सेट, प्रैक्टिस पेपर, इत्यादि तरह के कई आइटम है जिनकी जरुरत आपको होती है

आपको यह सभी सामान आपके नजदीकी wholesale stationery market में आसानी से मिल जाएगी

Read it also ;- Dal mill plant project report for 2020 business in Hindi

क्रॉस सेल के लिए आइटम (Items for Cross sell)

आपको कॉपी किताब के अलाव भी कुछ ऐसे सामान भी रखने चाहिए जो की आपके ग्राहक को जरुरत पड़ती है जैसे की फोटो कॉपी यानी ज़ेरॉक्स की जरुरत भी आपके ग्राहक को होंगी

इसके साथ ही आप लैमिनेशन की मशीन को भी अपने दुकान पर रखे जो की आपके मुनाफे को बड़ा करती है इसके साथ आप फॉर्म भी भरने के लिए भी एक सुविधा अपने ग्राहक को दे

ताकि जो ग्राहक आपके पास ही फॉर्म भी भर ले और इससे आपकी भी क्रॉस सेलिंग भी हो जयेगी है

दोस्तों अपने देखा होगा की समय समय अनेको अनेको अलग अलग तरह के फॉर्म आते रहते है  जो की स्कॉलरशिप फॉर्म , एक्साम फॉर्म , यूनिवर्सिटी फॉर्म, इत्यादि तरह के फॉर्म आते रहते है

सीजन वाला आइटम (Session selling item)

आपको यह बहुत ही अच्छे से मालूम होना चाहिए की की सीजन में कौन सा माल लगेगा जैसे की बच्चो के स्कूल खुलने के समय पर बैग, बुक , या और भी अन्य आइटम की बिक्री अधिक होती है

इसी तरह से अन्य कई ऐसे और मौके होते है जब अलग अलग समय पर अलग अलग चीजे बिकती है इसलिए आपको यह बहुत ही जरुरी है की आप इन मौको अच्छी तरह से पहचाने और सही समय पर सही आइटम रखे

जो की आपके बिज़नेस को अधिक मुनाफे वाला बना देंगी ।

Read it also ;- आलू चिप्स बनाने का बिज़नेस करने के लिए पूरी जानकारी

दूकान का पंजीकरण (Shop Registraion )

दोस्तों आपके बिज़नेस को अच्छी तरह से चलने के लिए आपको इस प्रकिया को जरूर अपनाना चाहिए जिससे की आपके बिज़नेस को सरकार क भी सहयोग भी मिल सकता है 

जैसे की कभी भी आपको लोन लेना हुआ तो आपके दुकान का पंजीकरण आपको बहुत ही अधिक मदद करता है या फिर यदि आपके दुकान पर कोई प्राकृतिक आपदा जैसे की आग लग जाने पर भी आपको सरकार की तरफ से आपको मदद मिल जाती है

इस लिए आपको अपने दूकान का पजीकरण या रजिस्ट्रेशन जरूर करना चाहिए। ‘जो की आप इस प्रकार भी करवा सकते है

#1. प्रोप्राइटरशिप (Propraitership)

आप चाहे तो अपने बिज़नेस  को लघु उद्योग में रजिस्टर करवा कर भी सरकार के सभी स्कीमों का लाभ ले सकते है आपको इसके लिए आधार उद्योग के द्वारा भी रजिस्टर कर सकते है जो की MSME की ही एक सुविधा है

#2. GST registration

दोस्तों आपको सरकार द्वारा की किया गया सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा जहा पर आपको रजिस्ट्रशन करना ही चाहिए जिसके लिए आप किसी भी GST suvidha center में या फिर सीधे GST Registration – GST.gov.in से भी कर सकते है

दुकान का प्रचार और प्रसार करे (Branding and promoting shop )

अब आपको आपके दूकान का प्रचार भी करना चाहिए जिससे की आपके आस पास के लोगो को आपकी दूकान के बारे में पता चलें  जो की वो लोग आपके दूकान पर आ सके

आप अपनी दूकान के ब्रांडिग पर भी ध्यान को केंद्रित कर जिससे की आपकी दुकान का नाम आपके नजदीक में हर किसी को पता चल सके

आप अपनी दूकान का प्रचार पम्पलेट और बैनर के जरिये भी कर सकते है

दुकान के लिए बजट या लागत (stationery shop business cost)

दोस्तों आपको इस बिज़नेस के लिए कम से कम 4 से 5 लाख का बजट बनाकर यह बिज़नेस आराम से शुरू कर सकते है किन्तु आप अपने हिसाब से इस बजट को बढ़ा या छोटा कर सकते है

सावधानिया (Caution)

दोस्तों आप किसी भी बिज़नेस को (stationery shop business plan )करने से पहले आप उस बिज़नेस के बारे में पूरी जानकारी और अच्छी तरह से एनालिसिस करके ही शुरू करे क्युकी आप किस बिज़नेस को करने के लिए बेहतर यह आपको बिना जाने कोई भी बिज़नेस नहीं करना चाहिए ।

इसे भी पढ़े (Read it also)

Leave a Reply