laghu udyog registration process & profit in 2021

नमस्कार , आज हम आपको अपने इस ब्लॉग पर laghu udyog registration process & profit के बारे में जानकारी बताऊंगा जिससे आप आपके बिज़नेस का सरल तरीके से पंजीकरण कर सके

इसके साथ ही इस पंजीकरण से आप भारत से मिलने वाले फायदे के बारे में भी जान सकेंगे तो आइये दोस्तों सीखते है उम्मीद करता हु की आप कुछ नया सीखेंगे

Table of Contents

laghu udyog registration (लघु उद्योग रजिस्ट्रेशन)

आपके बिज़नेस का पंजीकरण (Business registration) होना आपके बिज़नेस के सफल होने में बहुत ही आवश्यक पार्ट होते है आप अपने बिज़नेस का पंजीकरण करवाने के बाद आपकी सीमाएं ख़तम हो जाती है

Registration के बाद आप जहा चाहे वहा पर बिज़नेस (Business) कर सकते है जिसके साथ चाहे उसके साथ अपना बिज़नेस कर सकते है फिर चाहे आप भारत सरकार के साथ करना चाहे या फिर किसी Private company के साथ।

वर्तमान समय में भारत सरकार ने इसे इतना सरल बना दिया है की आप जब चाहे तब अपने आधार कार्ड (Aaddhar Card ) के जरिये मात्रा 10 मिनट में अपने बिज़नेस को पंजीकृत (Business Registered) कर सकते है

How to apply for laghu udyog registration

पंजीकरण की प्रक्रिया (laghu udyog registration process) दो प्रकार से पूरी की जा सकती है पहली आप ऑनलाइन Udyog Aadhar की वेबसाइट पर अपने बिज़नेस का पंजीकरण (how to apply for udyog aadhar) कर सकते है

दूसरा तरीका यह है की आप अपने बिज़नेस का पंजीकरण अपने नजदीकी जिला उद्योग केंद्र (DIC) में जाकर भी करवा सकते है

यदि आप अपने बिज़नेस का पंजीयकरण जिला उद्योग केंद्र (DIC) में करवाना चाहते है तो आप अपना आधार कार्ड , पैन कार्ड , और बिज़नेस का डिटेल्स जिसे आप करना चाहते है

  1. Voter ID Card
  2. Driving License
  3. PAN Card
  4. Passport
  5. Bank Photo Passbook
  6. Employee Photo Identity Card issued by the Government

इन सभी के साथ अपने नजदीकी जिला उद्योग केंद्र (DIC) में जाकर अपने बिज़नेस का सफलता पूर्वक laghu udyog registration करवा सकते है

laghu udyog registration

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन (laghu udyog registration)

दोस्तों अब पंजीकरण का दूसरा तरीका जो की बहुत ही प्रचलित और सुगम है वो है उद्योग आधार में ऑनलाइन आवेदन करके (how to apply for udyog aadhar) Registration करवाना।

नीचे हमने आपको कुछ स्टेप्स बताये है जिसके जरिये आप अपने बिज़नेस का पंजीकरण खुद ही करवा सकते है

1. Login to the Government Portal for MSME Registration

आसानी को बढ़ावा देने के लिए, MSME (MSME Full form Micro, Small and Medium Enterprises )मंत्रालय ने एक ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया (Ministry launched an online portal)।

उद्योग आधार के तहत एमएसएमई (MSME) के रूप में पंजीकरण करने की दिशा में पहला कदम पोर्टल पर विजिट करना है आप चाहे तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके भी उस तक पहुंच सकते है

2. Entering Individual Aadhaar Number

अब आपको दिए गए कलम में अपना बारह अंकों का आधार नंबर को दर्ज (Enter the 12 digit Aadhaar number) करने की जरूरत है।

3. Name of the Entrepreneur

अब आपको आपका नाम लिखना होगा आपका नाम आपके आधार कार्ड में लिखे नाम से मिलान करता हो इसके लिए आपको पूरी सतर्कता बरतनी होगी

4. Validating Aadhaar (laghu udyog registration )

उपरोक्त विवरण प्रदान करने के बाद, नीचे एक बटन है जो आपसे “ओटीपी को मान्य और उत्पन्न करने” के लिए कहता है। इस बटन पर क्लिक करके, आवेदक अपने आधार को मान्य कर सकेगा और फॉर्म को आगे भर सकेगा।

अब आपको यूआईडीएआई (UIDI) के साथ पंजीकृत आवेदक के मोबाइल नंबर (Registered Applicant’s Mobile Number) पर OTP भेजा जाएगा।

ओटीपी मिलने के बाद , आपको ओटीपी भरना होगा और फॉर्म को आगे पूरा करना होगा।

5. Filling Details in the Udyog Aadhaar Form

निम्नलिखित विवरण हैं जिन्हें आवेदक द्वारा आधार प्रपत्र में भरा जाना है:

a. आधार संख्या (Aadhaar Number)

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है।

b. मालिक का नाम (Owner Name)

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है।

c. Social Category

यहां, आवेदक को वह सामाजिक श्रेणी चुनने की आवश्यकता है जो वह संबंधित है। इसमें शामिल है

  • Scheduled Caste
  • Scheduled Tribe
  • Other Backward Classes (OBC)

इसके अलावा, संबंधित प्राधिकारी आवेदक की सामाजिक श्रेणी का प्रमाण माँग सकता है जब भी आवश्यक हो।

d. Gender

यहां, आवेदक को अपने लिंग का चयन करना होगा। (महिला गृह (Women Home Industry Registration) ,मसाला उद्योग रजिस्ट्रेशन (Spice Industry Registration))

e. Physically Handicapped

यहां, आवेदक को अपनी शारीरिक रूप से विकलांग स्थिति चुनने की आवश्यकता है।

f. Name of the Enterprise

इस खंड में, आवेदक को उस उद्यम का नाम प्रदान (Provide the name of the enterprise) करना होगा जिसके द्वारा वह व्यावसायिक गतिविधि (Business Activity) करता है और अपने ग्राहकों के लिए जाना जाता है।

इसके अलावा, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि एक आवेदक के पास एक से अधिक उद्यम हो सकते हैं। इनमें से प्रत्येक उद्यम या तो एक अलग उद्योग के लिए पंजीकृत हो सकता है और एक ही आधार संख्या का उपयोग कर सकता है।

g. Type of Organization

आवेदक को अब उस संगठन के प्रकार का चयन करना होगा जिसके तहत उसका उद्यम (Enterprise ) कार्य करता है। ये शामिल हो सकते हैं

h. Location of Plant

आवेदक को विभिन्न स्थानों पर कई पौधों के मामले में पौधे के स्थान का स्थान प्रदान करना होगा। वह इन सभी को ऐड प्लांट बटन पर क्लिक करके निर्दिष्ट कर सकता है।

i. Official Address

इसके तहत आवेदक को अपनी व्यावसायिक इकाई का पूरा डाक पता प्रदान करना होगा। विवरण में शामिल होंगे

  • State
  • District
  • PIN Code
  • Mobile Number
  • Email

j. Date of Commencement

इस खंड में आवेदक को उस तारीख को निर्दिष्ट करने की आवश्यकता है जिस पर कानूनी इकाई ने अपना परिचालन शुरू किया था।

k. Previous Registration Details (If Any)

एक मामला हो सकता है जहां व्यवसायिक संस्था (Business organization) जिसके लिए आवेदक प्रमाण पत्र चाहता है, पहले से ही जारी किया गया था

  • valid EM-I/II by the appropriate GM (DIC) according to the MSMED Act, 2006 OR
  • SSI registration that existed earlier to the MSMED Act, 2006
  • Such a number also needs to be mentioned by the applicant.

l. Bank Details

यहां, आवेदक को व्यावसायिक गतिविधियों के लिए उपयोग किए गए अपने बैंक खाते (Bank accounts) से संबंधित निम्नलिखित विवरण प्रदान करने की आवश्यकता है। इसमें शामिल है

  • Bank Account Number
  • IFSC Code

m. National Industry Classification Code (NIC Code)

इसके तहत, आवेदक को उन सभी गतिविधियों को पकड़ने के लिए एनआईसी कोड (NIC Code) निर्दिष्ट करने की आवश्यकता होती है, जो व्यवसाय इकाई में लगी हुई है। आवेदक केवल “अधिक जोड़ें” बटन का चयन करके एक से अधिक एनआईसी कोड (NIC Code) जोड़ सकता है

n. Investment in Plant, Machinery and Equipment

जब आवेदक निवेश की कुल राशि की गणना करता है, तो उसे उन वस्तुओं के क्रय मूल्य पर विचार करने की आवश्यकता होती है जो मूल निवेश (Original investment) है।

इसके अलावा, उसे आरबीआई द्वारा अधिसूचना के माध्यम से प्रदूषण नियंत्रण (Pollution control through notification by RBI), अनुसंधान एवं विकास (Research & Development), औद्योगिक सुरक्षा उपकरणों (Industrial safety devices) और ऐसी अन्य वस्तुओं की लागत को बाहर करने की आवश्यकता है।

o. Persons Employed

यहां, आवेदक को उन लोगों की कुल संख्या निर्दिष्ट करने की आवश्यकता है जो व्यवसाय इकाई के साथ कर्मचारियों के रूप में काम करते हैं

और उन्हें व्यावसायिक इकाई द्वारा वेतन या मजदूरी का भुगतान किया जाता है।

p. Details Regarding District Industries Center (DIC)

व्यवसाय इकाई के स्थान के आधार पर, आवेदक को डीआईसी के स्थान को भरना आवश्यक है

6. Submission of the Udyog Aadhaar Form

आवेदक को बस सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा। इससे OTP का जनरेशन होगा जो आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। प्राप्त ओटीपी दर्ज करें। कैप्चा कोड दर्ज करें और अंतिम सबमिट बटन पर क्लिक करें।

laghu udyog registration Profit

यदि आप एक पंजीकृत बिज़नेस (Registered Business) करते है तो आपको भारत सरकार के द्वारा समय समय पर चलाये जाने वाले योजनाओ का लाभ आसानी से ले सकते है

इसमें से कुछ योजनाए निम्नवत है

  • बैंक से लोन मिलने में आसानी और आपको प्राथमिकता भी मिलती है
  • लोन का ब्याज दर कम
  • भारत सरकार दवारा लोन में सब्सिडी
  • Excise ड्यूटी में छूट
  • आरछण का भी फायदा मिलता है
  • प्रत्यछ कर में भी छूट मिलती है

लघु उद्योग रजिस्ट्रेशन (laghu udyog registration loan)

यदि आप अपने उद्योग आधार पंजीकरण (jila udyog kendra loan form) से अपने बिज़नेस के लिए बैंक में लोन के लिए आवेदन (Application for a bank loan for business) करना चाहते है तो आप यह बहुत ही आसान तरीके से कर सकते है

जिसके लिए आपका यह लघु उद्योग का पंजीकरण (laghu udyog registration)मान्य होगा।

यदि आप अपने बिज़नेस के लिए बैंक से लोन के लिए आवेदन करना चाहते है और आप यह जानना चाहते है की आप अपने बिज़नेस के लिए बैंक में लोन के लिए आवेदन कैसे करे तो आप हमारे इस पोस्ट को चेक कर सकते है

लघु उद्योग भारती क्या है (what is laghu udyog bharati)

लगु उद्योग भारती 1994 से भारत में सूक्ष्म और लघु उद्योग का एक पंजीकृत अखिल भारतीय संगठन है। आज, लागु उद्योग भारत में देश की लंबाई और चौड़ाई में फैला हुआ है।

इसकी पूरे देश में 250 शाखाओं के साथ 400 से अधिक जिलों में सदस्यता है। MSE सेक्टर को व्यवस्थित करने के लिए एक वास्तविक प्रयास में लगु उद्योग भारती इस क्षेत्र में व्याप्त विभिन्न बीमारियों से लड़ने और MSE के रास्ते में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए लड़ रहा है।

laghu udyog vikas development corp क्या है (what is laghu udyog vikas development corp?)

SHASKIYA LAGHU UDYOG VIKAS MAHAMANDAL LIMITED 28 मार्च 2018 को शामिल एक निजी है। इसे संघ सरकार कंपनी के रूप में वर्गीकृत किया गया है और यह रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज, मुंबई में पंजीकृत है। इसकी अधिकृत शेयर पूंजी रु। 100,000 और इसकी भुगतान की गई पूंजी रु। 100,000 है। यह व्यावसायिक गतिविधियों में शामिल है।

शस्किया लगु उद्योग विकास महामंडल लिमिटेड की वार्षिक आम बैठक (एजीएम) अंतिम बार एन / ए पर आयोजित की गई थी और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय (एमसीए) के रिकॉर्ड के अनुसार, इसकी बैलेंस शीट आखिरी बार एन / ए पर दायर की गई थी।

शस्किया लगु उद्योग विकास महामंडल लिमिटेड के निदेशक तृप्ति युवराज अहिरे और डोंगर भगवान जगताप हैं।

महराष्ट्र ग्रामीण लघु उदयोग क्या है? (what is maharashtra gramin laghu udyog)

उद्योग, सरकार का अप्रत्यक्ष। महाराष्ट्र (GoM) महाराष्ट्र सरकार के उद्योग विभाग की एक कार्यकारी शाखा है और राज्य के उद्योगों के सर्वांगीण विकास के लिए सरकारी नीतियों के क्रियान्वयन में लगी हुई है, जैसे कि MIDC, MSSIDC, KVS आदि राज्य स्तर के प्रचार निगमों के बीच समन्वय की मांग कर रही है। । और उद्योगों से संबंधित सरकार के अन्य विभाग।

महाराष्ट्र में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन योजनाओं सहित विभिन्न योजनाओं की निगरानी, ​​कार्यान्वयन और विकास के लिए उद्योग निदेशालय की स्थापना की गई है। यह राज्य सरकार को विभिन्न उद्योग संबंधी नीतियों और प्रचार योजनाओं के निर्माण में सहायता करता है। औद्योगिक नीति, एसईजेड नीति, आईटी नीति, प्रोत्साहन की पैकेज योजना आदि।

लघु उद्योग का अर्थ क्या है ? (what is the meaning of laghu udyog )

लघु उद्योग का अर्थ है small industry, कोई भी उद्योग जिसमे 10 लाख से ज्यादा व एक करोड़ से कम लागत लगी हो वह लघु उद्योग कहलायेगा।

लघू उद्योग उदाहरण (laghu udyog examples)

कोई भी उद्योग जिसमे 10 लाख से ज्यादा व एक करोड़ से कम लागत लगी हो वह लघु उद्योग कहलायेगा। ऐसे ही कुछ लघु उद्योगों के उदाहरण निम्न प्रकार से हैं।

  • घर में इस्तेमाल किया जाने वाला कूलर बनाना
  • एल्यूमीनियम से बने हुए सामग्री बनाना
  • हॉस्पिटल में उपयोग किए जाने वाला स्ट्रेचर बनाना
  • करंट मापने वाला मीटर या वोल्ट मीटर बनाना
  • गाड़ी में लगने वाली हेडलाइट बनाना
  • कपड़े या चमडे का बैग बनाना
  • कांटेदार तार बनाना
  • टोकरी बनाना इत्यादि

इनके अलावा भी बहुत सारे लघु उद्योग के उदहारण हो सकते हैं। इसमें एक उद्योग लघु है या नहीं इसकी जानकारी मुख्यतः उसकी लागत से होती है।

कितने प्रकार के लघू उद्योग ? (how many types of laghu udyog ?)

लघु उद्योगों का वर्गीकरण तीन प्रकार उद्योगों में किया है- 1. सूक्ष्म उद्योग 2. लघु उद्योग 3. मध्यम उद्योग।

मुख्यतया लघु उद्योगों को इन में विनियोजित राशि के मापदण्डो से वर्गीकरण किया जाता है। निर्माण उपाय के अर्न्तगत सूक्ष्म उद्योग वह है जहाँ प्लाण्ट एवं मशीनरी में निवेश 25 लाख रूपये से अधिक नही होता है।

लघु उद्योग वह है जहाँ प्लाण्ट एवं मशीनरी में निवेश 25 लाख रूपये से अधिक लेकिन 5 करोड़ रूपये से कम होता है। मध्यम उद्योग वह है जिसमें प्लांट एवं मशीनरी में निवेश पॉच करोड़ रूपये से अधिक लेकिन 10 करोड़ रूपये से कम होता हो।

लघु उद्योग क्या है (what is laghu udyog in hindi)

लघु उद्योग (छोटे पैमाने की औद्योगिक इकाइयाँ /small scale industries) वे इकाइयां हैं जो मध्यम स्तर के विनियोग की सहायता से उत्पादन प्रारम्भ करती हैं। इन इकाइयों मे श्रम शक्ति की मात्रा भी कम होती है और सापेक्षिक रूप से वस्तुओं एवं सेवाओं का उत्पादन किया जाता है। 

आप “ laghu udyog registration ” पर अपने सुझाव Comment करें

दोस्तों आपको हमारा यह आर्टिकल ” laghu udyog registration “आपको कैसा लगा आप अपनी राय हमे comment करके जरूर बताये

Read Our Other Article

1 thought on “laghu udyog registration process & profit in 2021”

Leave a Comment