Mineral Water Plant Project Report, Cost & Margin in Hindi 2021

नमस्कार , क्या आप mineral water plant project report in Hindi बनाना चाहते है ताकि आप अपना खुद का  मिनरल वाटर का बिज़नेस शुरू कर सके तो आप बिलकुल ही सही जगह पर

क्युकी हम आपको इस आर्टिकल में  Mineral water plant project Cost Report ,Profit loss से सम्बनधित सभी प्रकार की जानकरी आपके साझा करेंगे

आपको बस इस mineral water plant project report को पूरा पढ़ना है जिससे की आप यह जान सकेंगे की आप RO water plant कैसे लगा सकते है

Mineral water plant project report, Cost, Margin in Hindi

Table of Contents

मिनरल वाटर क्या है (What is Mineral water plant project )

सबसे पहले हम यह जानेगे की आखिर यह मिनरल वाटर होता क्या है और इसकी बाजार में इतनी मांग क्यों है आज के समय हर व्यक्ति की पहली मांग RO water है क्यों की यह पानी अन्य पानी की तुलना में अधिक साफ माना जाता है

Packaged Drinking Water या Mineral water में सामान्य पानी की तुलना  में TDS(Total Dissolved Solid) काम होता है जो की मनुष्य के शरीर के फ़ायदेमंत होता है इसके साथ ही इस पानी में मिनरल नहीं होता है

Mineral Water का बिज़नेस कैसे शुरू करे (How to start Mineral water Plant in india )

जैसा की हम जानते है की कोई भी बिज़नेस शुरू करने से पूर्व हमे उस बिज़नेस के लिए एक ब्लूप्रिंट (Mineral water Plant Business Plan)तैयार करना होता है उसके साथ ही हमे उस बिज़नेस की अच्छी जानकारी का भी होना बहुत ही जरुरी होता है

जिसके लिए हमे ट्रैंनिंग की जरुरत होती है  जो की हम किसी अन्य फैक्ट्री में कुछ दिन काम करके अनुभव प्राप्त कर सकते है इसके साथ अब आप  अपने अनुभव के अनुसार एक बिज़नेस प्लान लिख सकते है

जिसमे आपको निम्न बातो पर ध्यान देकर अपने बिज़नेस प्लान को लिखना होगा

1. बिज़नेस के लिए लाइसेंस (Licence for Mineral water plant project)

आपको अपने इस नए बिज़नेस Mineral water Plant के लिए कुछ महत्वपूर्ण रजिस्ट्रेशन करवाना होगा जो  की इस तरह से है

2. प्लांट का रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण (Plant Registration )

आपको अपने फर्म, प्लांट या बिज़नेस का पंजीकरन आपको आपके बिज़नेस के हिसाब से करना होगा अर्थात यदि आप छोटा बिज़नेस प्लांट शुरू करना चाहते है तो आप इसके लिए उद्योग आधार पर भी रजिस्ट्रेशन करवा सकते है जो की बहुत ही आसान प्रकिया है

इसके साथ ही यदि आप अपने बिज़नेस को बड़े लेवल से शुरू करना चाहते है तो आपको इसके लिए PVT LTD , LLP , Partnership या Public ltd में पंजीकरण करा सकते है जिसके लिए आपको मिनिस्ट्री ऑफ़ कारपोरेशन में यानि MCA में आवेदन करना होगा

3. GST रजिस्ट्रेशन (GST Registration)

अपने फर्म का पंजीकरण करने के बाद आपको अपने बिज़नेस का GST रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना होगा जो की आप किसी CA के द्वारा या खुद भी GST की वेबसाइट पर आवेदन कर सकते है

जो की एक या दो दिन में यह प्रक्रिया पूरी हो जाती है

4. ट्रेड मार्क के लिए आवेदन

1: एक “पर्याप्त” ब्रांड नाम के लिए खोजें।
2: ट्रेडमार्क एप्लिकेशन बनाना।
3: ब्रांड नाम पंजीकरण आवेदन भरना
4: ब्रांड नाम पंजीकरण आवेदन की जांच।
5: भारतीय ट्रेड मार्क पत्रिकाओं में प्रकाशन।
6: ट्रेडमार्क पंजीकरण प्रमाणपत्र जारी करना।

5. Pest control certificate

you can apply for your pest control certificate here

and these are certificates also a requirement for your new water mineral plant

  • Feed water test report from laboratory
  • ISI certification from Bureau of Indian Standards (BIS)
  • Pollution control certificate from the local pollution board office

6. वाटर प्लान के लिए जगह का चुनाव

Mineral water plant project report, Cost, Margin in Hindi

7. वाटर पलांट के लिए आवश्यक मशीन (mineral water plant machinery )

दोस्तों आपको इस नए बिज़नेस के लिए कुछ आवश्यक मशीनों की आवश्यकता होगी जो की पानी फ़िल्टर और उसकी पैकेजिंग में आपकी मदद करेंगी

जो की इस प्रकार से है

Machinery Name Purification Capacity Cost
Automatic Mineral Water System1000 L/hour15 Lakhs
Semi-automatic2000 L/Hours18 Lakhs
20 bottle/min Automatic Mineral Water Plant500 L/hour5 Lakhs

8. वाटर प्लान के लिए आवश्यक वस्तुए ()

आपको आपके वाटर प्लांट के लिए कुछ आवश्यक वस्तुए जैसे की रॉ वाटर को स्टोर करने के लिए जगह और पुरिफ़िएड वाटर को स्टोर करने के लिए जगह

इसके साथ ही आपको उन वस्तुओ (पात्र) की भी जरुरत होती है जिसमे आप अपने RO water की पैकेजिंग करके आप उसे मार्किट में बेचेंगे। जैसे- बोतल अलग अलग साइज में।l

9. मिनरल प्लांट के लिए प्रोसेस

जमावट प्रक्रिया

यह पहला कदम है जिसमें हम अशुद्धियों को दूर करने के लिए कच्चे पानी में एलुम रसायन मिलाते हैं।

फिटकिरी रसायन धनात्मक आवेशों का उत्पादन करता है जो कि पुर्जों के ऋणात्मक आवेश के साथ मिलकर चिपकते हैं और बड़े कणों का निर्माण करते हैं जिन्हें आसानी से हटाया जा सकता है।

जमावट प्रक्रिया के बाद, पानी को 1 घंटे के लिए व्यवस्थित करने की अनुमति दी जाती है।

रिवर्स ऑस्मोसिस

आरओ प्रक्रिया की मदद से हम पानी से लवण जैसे विघटित अशुद्धियों को हटाते हैं।

पानी का क्लोरीनीकरण

इस प्रक्रिया का उपयोग क्लोरीन टैंक में बुदबुदाने वाली क्लोरीन गैस की मदद से बैक्टीरिया और अन्य सूक्ष्म जीवों को मारने के लिए किया जाता है।

रेत का फिल्टरेशन

पानी को तब तक रेत फिल्टर के माध्यम से पारित कर दिया जाता है ताकि अनिष्ट अशुद्धियों को हटाया जा सके।

कार्बन फिल्टरेशन डी-क्लोरीनेशन

रेत फिल्टरेशन प्रक्रिया के बाद, हम तब कार्बन फिल्टर के माध्यम से पानी पास करते हैं जो गंध और रंग को हटा देता है। कार्बन फिल्टर का उपयोग करके डीक्लोरिफिकेशन भी होता है।

पैकिंग और बॉटलिंग

मशीनों की मदद से पैकिंग और बॉटलिंग की जाती है।

10. Packaged Drinking Water Plant Cost Estimation

PARTICULARSQUANTITYPRICE (in Lakhs)
RO Plant – 2000 ltr13.50
Alum Treatment Tanks20.70
Chlorination Tank (STEEL)10.50
Sand Filter & Carbon Filter1 – 10.90
UV Disinfectant System10.25
Raw water tank10.30
Purified water tank10.30
Pumping motors20.40
Bottling Machine Automatic16
Lab Equipments11
Miscellaneous Tools1
TOTAL14.85 LAKHS

उपरोक्त तालिका से, हमें पता चला है कि मिनरल वाटर प्लांट शुरू करने के लिए मशीनों की लागत लगभग 15 लाख रुपये है। मशीनरी के अलावा, आपको संयंत्र स्थापना और कुछ आधार फर्नीचर के लिए एक उचित स्थान की आवश्यकता होगी।

संयंत्र की स्थापना के बाद, आपने बोतलबंद पेयजल के उत्पादन के लिए एक उचित व्यवसाय योजना बनाई है। उस व्यवसाय योजना में निम्नलिखित विवरण शामिल होंगे –

  1. कर्मचारियों के लिए वेतन और मजदूरी
  2. प्रति माह कार्यशील पूंजी
  3. उत्पादन लक्ष्य
  4. कच्चे माल में अन्य व्यय यदि कोई हो
Mineral water plant project report, Cost, Margin in Hindi

11. उत्पादन क्षमता और लाभ मार्जिन गणना (Production Capacity & Profit Margin Calculation )

आपके प्लांट का कुल उत्पादन इस बात पर निर्भर करेगा कि आप कितने घंटे काम करेंगे यानी शिफ्ट की संख्या यह मानकर कि 1 शिफ्ट 8 घंटे की है।

मान लीजिए आप 2 शिफ्ट होंगे यानी 16 घंटे। इसलिए, आप 8hrs में 8000 बोतलों का उत्पादन कर सकते हैं।

लाभ मार्जिन गणना

अब हम इस व्यवसाय में वार्षिक लाभ को शांत करेंगे: –

दैनिक उत्पादन 8000 बोतलें हैं अर्थात् वार्षिक उत्पादन 8000 X 365 = 2920000 बोतलें होंगी

टोकरे की संख्या – मान लें कि एक टोकरे में 12 बोतलें हैं – 2920000/12 = 24333 बक्से सालाना

एक क्रेट का विक्रय मूल्य होगा – प्रति क्रेट 80 रु
कुल कारोबार – 80 x 24333 = 1 करोड़ 94 लाख रुपये
कुल लाभ = कारोबार – उत्पादन की लागत

अब आपको 24333 बक्से के उत्पादन की लागत की गणना करनी होगी। उत्पादन की लागत में कर्मचारियों को वेतन, कच्चे माल के खर्च, बिजली के उपयोग, प्रयोगशाला के खर्च और अन्य खर्च शामिल होंगे।

पैकेज्ड पेयजल के 24333 क्रेट के उत्पादन की लागत लगभग 12 लाख मासिक आएगी। इसलिए उत्पादन की वार्षिक लागत 1 करोड़ 44 लाख होगी

कुल लाभ = 1 करोड़ 94 लाख – 1 करोड़ 44 लाख = 50 लाख वार्षिक

12. Loan for mineral water plant

we will Update soon……

भारत में खनिज जल संयंत्र की लागत क्या है? (What is the cost of mineral water plant in India?)

Bottle Filling CapacityMin PriceMax Price
10 Bottle/minRs 1000000/UnitRs 1000000/Unit
20 Bottle/minRs 100000/UnitRs 1500000/Unit
30 Bottle/minRs 150000/UnitRs 4500000/Unit
50 Bottle/minRs 950000/UnitRs 3500000/Unit

आप मिनरल वाटर प्लांट कैसे शुरू करते हैं? (How do you start a mineral water plant?)

भारत में बोतलबंद पानी संयंत्र स्थापित करने के लिए निम्नलिखित लाइसेंस और दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:

  • लघु उद्योग पंजीकरण प्रमाणपत्र।
  • AOA और व्यवसाय का MOA।
  • भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) से ISI प्रमाणन
  • स्थानीय प्रदूषण बोर्ड कार्यालय से प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र।

Most asked Q&A

मिनरल वाटर प्लांट की लागत क्या है?

PRODUCTION CAPACITY : Quantity – 12 Lakhs Bottles (1 Litre) (Per Annum) Value – Rs. 111.0 Lakhs.

क्या मिनरल वाटर प्लांट लाभदायक है?

मिनरल वाटर के कारोबार में लाभ का मार्जिन अत्यधिक निर्भर है। यदि आप 500-एमएल, 1-लीटर और 5-लीटर जार बेचते हैं,
तो औसत लाभ 10-15% होगा। हालांकि, यदि आप 5-लीटर जार बेचते हैं, तो औसत लाभ लगभग 30-40% होगा। लेकिन, बिकने वाली बोतलों की संख्या भी प्रति श्रेणी बदलती रहती है।

जो बेहतर खनिज पानी या शुद्ध पानी है

जब शुद्ध पानी की बात आती है, तो स्रोत जरूरी नहीं है। इस प्रकार का पानी शुद्धिकरण प्रक्रिया से गुजरता है,
जो स्वाद को साफ करने के लिए किसी भी दूषित पदार्थ या रसायन को निकालता है। बदले में, शुद्ध पानी में आमतौर पर स्वाद की कमी होगी, और खनिज पानी बेहतर है क्योंकि शुद्ध पानी का कोई स्वाद नहीं है।

विराट कोहली कौन सा पानी पीते हैं?

विराट कोहली केवल एवियन नेचुरल स्प्रिंग पानी पीते हैं। पानी की एक बोतल जो 100% प्राकृतिक पानी है और जो Lesvian-Les-Bains के पास स्रोतों से प्राप्त की जाती है, उसे किसी भी रसायन से दूषित नहीं होने के लिए जाना जाता है।

गुजारिश

दोस्तों हमने आपको ”Mineral Water Plant Project Report, Cost & Margin in Hindi 2021“  पोस्ट में कई सवालो के जवाब देने का प्रयास किया है

फिर भी अगर आपके पास कोई अन्य सवाल इससे जुड़े हुए है तो आप उन्हें हमसे सीधे कमेंट के जरिये जरूर बताये

हम आपके सभी सवालो को अपने इस लेख में डालकर आप सभी की मदद करना पसंद करेंगे।

दोस्तों आपको हमारा यह लेख ”Mineral Water Plant Project Report, Cost & Margin in Hindi 2021” आपको कैसा लगा आप हमे कमेंट करके जरूर बताये

इसे भी पढ़े

Leave a Comment