What is firewall in Hindi tutorial

दोस्तों जब हम what is firewall in Hindi के बारे में चर्चा कर रहे है तो यह निश्चित हो जाता है की हम अपने computer के security system को लेकर बहुत ही सतर्क है

जो की होना भी चाहिए आज के इस समय में technology के जीतनी तेजी से बढ़ रहा है उतनी ही तेजी से crime भी बढ़ रहा है इसलिए आज के समय में खुद को secure रखना प्रत्येक व्यक्ति के लिए अति आवशयक है

जिसमे दोस्तों Antivirus या firewall का भी बहुत बड़ा योगदान होता है anitvirus या firewall आपके computer या laptop को बाहरी Unkown चीजों जैसे virus इत्यादि से safe रखती है इसलिए आपको यह अति आवश्यक है की आपके पास computer security in hindi के बारे में जानकारी होना ही चाहिए

आईये दोस्तों आगे हम देखेंगे की firewall क्या होता है और इससे जुडी तमाम जानकारी भी लेंगे।

What is firewall in Hindi

दोस्तों firewall आपके computer , laptop को security प्रदान करता है जो की यह software के रूप रहकर आपके computer के security को पक्का करता है

Firewall का काम computer को बाहरी malware या haker से safty प्रदान करना ताकि कोई और व्यक्ति आपके system को hack न कर सके।

जब हम internet पर suffring करते है तो हम कई website में प्रवेश करते है कई files donload भी करते करते है जिसमे तरह तरह के फाइल हो सकते है जैसे video , audio , text , images इत्यादि

इन फाइल को download करते समय में कई ऐसे file होते है जो की स्वतः ही download होकर हमारे सिस्टम में इनस्टॉल होकर हमारे सिस्टम को काफी नुकसान पहुंचने की कोशिश करते है

Check it also ;- What is affiliate marketing in Hindi 2020-21

किन्तु जब यह firewall हमारे system में उपलब्ध होता है तो यह हमारे network में एक wall की तरह हमारे network की safty को confirm करता है

और यह Unkown file को download या उसे install नहीं होने देता है

Types of firewall

दोस्तों firewall बारे में हमने नीचे एक complete चर्चा की है आइये ऐसे भी देखते है

1. Packet-filtering firewalls

सबसे “बुनियादी” और सबसे पुराने प्रकार के फ़ायरवॉल आर्किटेक्चर के रूप में, पैकेट-फ़िल्टरिंग फ़ायरवॉल मूल रूप से एक ट्रैफ़िक राउटर या स्विच पर एक चौकी बनाते हैं।

फ़ायरवॉल राउटर के माध्यम से आने वाले डेटा पैकेटों की एक साधारण जाँच करता है- जैसे कि गंतव्य और उत्पत्ति आईपी पते, पैकेट प्रकार, पोर्ट नंबर और अन्य सतह-स्तर की जानकारी का निरीक्षण करता है, बिना पैकेट को खोले उसकी सामग्री का निरीक्षण करता है।

2. Circuit-level gateways

जैसा कि एक अन्य सरलीकृत फ़ायरवॉल प्रकार है जो महत्वपूर्ण कंप्यूटिंग संसाधनों का उपभोग किए बिना ट्रैफ़िक को जल्दी और आसानी से स्वीकार या अस्वीकार करने के लिए है,

सर्किट-स्तर के गेटवे ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल (टीसीपी) हैंडशेक को सत्यापित करके काम करते हैं। यह TCP हैंडशेक चेक यह सुनिश्चित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है कि पैकेट जिस सत्र से है वह वैध है।

3. Stateful inspection firewalls

ये फायरवॉल पैकेट निरीक्षण तकनीक और टीसीपी हैंडशेक सत्यापन दोनों को जोड़ती है ताकि पिछले दो आर्किटेक्चर में से कोई भी एक से अधिक सुरक्षा प्रदान कर सके।

4. Application-level gateways (a.k.a. proxy firewalls)

प्रॉक्सी फ़ायरवॉल आपके नेटवर्क और ट्रैफ़िक स्रोत के बीच आने वाले ट्रैफ़िक को फ़िल्टर करने के लिए एप्लिकेशन लेयर पर काम करते हैं – इसलिए, “एप्लिकेशन-लेवल गेटवे” नाम।

ये फ़ायरवॉल क्लाउड-आधारित समाधान या किसी अन्य प्रॉक्सी डिवाइस के माध्यम से वितरित किए जाते हैं। ट्रैफ़िक को सीधे कनेक्ट करने देने के बजाय, प्रॉक्सी फ़ायरवॉल पहले ट्रैफ़िक के स्रोत से संबंध स्थापित करता है और आने वाले डेटा पैकेट का निरीक्षण करता है।

5. Next-gen firewalls

सबसे हाल ही में जारी फ़ायरवॉल उत्पादों में से कई को “अगली पीढ़ी” के आर्किटेक्चर के रूप में देखा जा रहा है। हालाँकि, फायरवॉल वास्तव में अगले-जीन को बनाने के बारे में अधिक आम सहमति नहीं है।

  1. Software firewalls
  2. Hardware firewalls
  3. Cloud firewalls

Leave a Comment