What is IP address in Hindi Complete Tutorials

क्या आप जानना चाहते है की IP address क्या (what is ip address in hindi )होता है तब आप एक दम सही जगह पर है

हम आपको इस ब्लॉग post के जरिये IP address के बारे में बताएँगे इसके साथ ही हम आपको इसके सभी प्रकार (Types of IP address) और यह कब और क्यों इस्तेमाल किया जाता है, इसकी history क्या है इत्यादि। 

IP address को Internet Protocol भी  कहा जाता है जो की IP address का full form भी  है इसे IP number या internet address के नाम से भी जानते है

what is IP address in Hindi

दोस्तों जैसे की इसके नाम में ही address word है तो इससे आपको यह अनुमान लग गया होगा की यह किसी वस्तु या किसी चीज का address है जिसके द्वारा  इंटरनेट वर्ल्ड में उस वस्तु या उस चीज का पहचान लगाया जाता है

आइये दोस्तों इसके बारे में पूरी जानकारी नीचे अन्य बिन्दुओ के द्वारा क्रमशः इसे समझने का प्रयास करते है

What is ip address in hindi

दोस्तों IP address कंप्यूटर विज्ञान में, एक Internet address (IP address) एक Numeriacal numbers है जो computer network से जुड़े प्रत्येक Devices को सौंपा जाता है

यह एक प्रकार से उस device या Computer के पते यानि address के रूप में भी जाने जाते है जो की संख्या के द्वारा प्रदर्शित किये जाते है

जो संचार के लिए Internet protocol का उपयोग करता है। एक IP address  मुख्य रूप से दो प्रकार के कार्य करता है

1. होस्ट या नेटवर्क इंटरफ़ेस पहचान
2. स्थान पता

Check it also – What is kbps full form in Hindi Full Tutorial

IP address को इस तरह से लिखा जाता है जैसे – 172.16.254.1 जो की किसी भी मानव द्वारा आसानी से पढ़ा जा सकता है। IP address को globally ,  Internet Assigned Numbers Authority (IANA) के द्वारा ही manage किया जाता है

इसके साथ ही पांच और छेत्रिय  Internet registries के द्वारा manage किया जाता है जो की इस प्रकार से है  इंटरनेट सेवा प्रदाता (ISPs) internet service provider।

IP address history (IP एड्रेस का खोज कब हुआ )

दोस्तों IP address का खोज Robert Elliot Kahn ने अपने मित्र  Vint Cerf के साथ मिलकर किया था यह दोनों ही America से है  इन्होने ही पहली बार विश्व में TCP और IP को introduce किया था

IP version

आज के समय में internet पर internet protocol के दो versions है जो की इस प्रकार से है

1 IPv4

 ARPANET के द्वारा internet protocol का जो पहला मूल version launch किया था वो IPv4 है IPv4 का full form है internet protocol version 4 जिसे ARPANET के द्वारा launch किया गया था

IPv4 पते में 32 Bits के आकार का  होता है,

IPv4 हमे केवल 4 billion IP address provide कर सकता है जो की world की population के मुताबिक देखा जाये तो यह नंबर बहुत ही कम जिसके वजह से ise UPgrade करके IPv6 को लाया गया

2 IPv6

1990 के दशक तक Internet service provider (ISPs)और अंतिम-उपयोगकर्ता संगठनों को असाइनमेंट के लिए उपलब्ध IPv4 Address space की तीव्र थकावट ने इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स (IETF) को इंटरनेट पर एड्रेसिंग क्षमता का विस्तार करने के लिए नई तकनीकों का पता लगाने के लिए प्रेरित किया।

Check it also – What is java in Hindi? Learn everything full tutorials

 परिणाम 1995 में Internet protocol version 6 (IPv6) के रूप में जाना जाने वाला इंटरनेट प्रोटोकॉल का एक नया स्वरूप जन्म ले लिया था और  2000 के दशक के मध्य तक IPv6 तकनीक विभिन्न परीक्षण चरणों में थी जब वाणिज्यिक उत्पादन की तैनाती शुरू हुई।

IPv6 की ख़ास बात यह है की यह trillions में IP को generate कर सकता है

Types of IP address

दोस्तों अब हम जानेंगे की यह IP address कितने प्रकार का होता है यह सभी IP address के काम भी अलग अलग प्रकार के होते है  जिसके बारे में हम आइये आगे जानते है

हम आपको IP address के मुख्या 4 प्रकार के address का वर्णन नीचे कर रहे है जिन्हे आप देख सकते है

  • Private IP address
  • Public IP address
  • Static IP address
  • Dynamic IP address

दोस्तों जैसे की हमने आपको बताया है की सभी IP address के दो और version , IPv4 और IPv6 भी होते है।

1. Private IP address

यह एक ऐसा network IP address है जिसे केवल किसी घर या संस्था के लिए इस्तेमाल किया जाता है यह locally ही इतेमाल किया जाता है इस तरह के IP address को publicly यानि globaly नहीं इस्तेमाल करते है

उदहारण के लिए ;- यदि आपका कोई ऐसा IP address जिसका इस्तेमाल केवल किसी घर या office तक ही सिमित हो जिसको world wide web के द्वारा access न किया जा सके

जैसे की computer को Printer या अन्य किसी device के साथ जोड़ कर उसमे IP address create करना

2. Public IP address

दोस्तों public IP address वह IP address है जो की ISP द्वारा provide किया जाता है जिसका इस्तेमाल आप internet पर मौजूद सभी प्रकार के devices या web pages से connect हो सकते है 

यह IP address एक Private न होकर बल्कि यह एक ऐसा IP एड्रेस होता है जिसको इंटरनेट पर मौजूद किसी भी नेटवर्क के द्वारा इसे Search किया जा सकता है

इस IP address के जरिये आप किसी अन्य devicess के साथ आसानी से comunicate कर सकते है

3. Dynamic IP address

दोस्तों यह एक ऐसा IP address होता है जिसे Assigend , DHCP server के द्वारा किया जाता है इस डायनेमिक आईपी एड्रेस एक आईपी एड्रेस होता है जो Static Internet Protocol address के विपरीत समय-समय पर बदलता रहता है।

अधिकांश घरेलू नेटवर्क में एक गतिशील आईपी पता होने की संभावना है और इसका कारण यह है कि यह इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (आईएसपी) के लिए अपने ग्राहकों को गतिशील आईपी पते आवंटित करने के लिए प्रभावी है।

3. Static Internet Protocol address (Ip address in hindi)

एक Static IP Address केवल एक ऐसा Address है जो बार बार नहीं बदलता  है। एक बार जब आपका डिवाइस एक Static IP address  सौंपा जाता है, तो यह संख्या आम तौर पर उसी समय तक रहती है

जब तक कि डिवाइस डीकोमुलेशन या आपके नेटवर्क आर्किटेक्चर में परिवर्तन नहीं हो जाता है। स्टेटिक आईपी एड्रेस आमतौर पर सर्वर या अन्य महत्वपूर्ण उपकरणों द्वारा उपयोग किए जाते हैं

Request  

दोस्तों उम्मीद करता हु की अपने हमारे blog post , what is ip address in hindi में अपने बहुत कुछ सीखा होगा जिसका आप इस्तेमाल अपने अलग अलग तरीको से करेंगे

किन्तु दोस्तों अगर आपको हमारा यह blog पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और यदि अपने मन में कोई सवाल या BusinessHelp4u के लिए कोई सुझाव है तो हमे जरूर बताये

Leave a Comment